Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai Naat Lyrics

1 minute, 0 seconds Read

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai Naat Lyrics

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं
वो लोग फ़रिश्तों पे शरफ़ पाए हुए हैं
ये चाँद ये सूरज ये चमकते हुए तारे
रुखसारे नबी देख के शर्माए हुए हैं

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं
वो लोग फ़रिश्तों पे शरफ़ पाए हुए हैं

है वड़्ड का मैदान वो गिनती में हज़ारों
ये दीन सोतेरा है मगर छाए हुए हैं

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं
वो लोग फ़रिश्तों पे शरफ़ पाए हुए हैं

देखो तो ये इज़्ज़त शहंशाहे दो आलम
पत्थर भी अबू जहल से टकराए हुए हैं

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं
वो लोग फ़रिश्तों पे शरफ़ पाए हुए हैं

अल्लाह रहे साथ वो अख़्लाके पायंबर
दुश्मन भी पशेमा हैं अमा पाए हुए हैं

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं
वो लोग फ़रिश्तों पे शरफ़ पाए हुए हैं

बातिन कभी भटकेंगे ना वो रहे हुदा से
कुरआन को सीने से जो चिमटाए हुए हैं

सरकार की सुन्नत को जो अपनाए हुए हैं

 

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai Naat Lyrics
Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai Naat Lyrics

 

 

 

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai
Ye Chand Ye Suraj Ye Chamakte Huye Tare
Rukhsare Nabi Dekh Ke Sarmaye Hai

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai

Hai Wadr Ka Maidan Wo Ginti Me Hajaro
Ye Deen Sotera Hai Magar Chhaye Huye Ha

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai

Dekho To Ye Ezaz Shahanshahe Do Alam
Patthar Bhi Abu Jahl Se Takraye Huye Hai

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai

Allah Rahe Sath Wo Akhlake Payambar
Dushman Bhi Pashema Hai Ama Paye Huye Hai

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai

Batin Kabhi Bhatkenge Na Wo Rahe Huda Se
Qura’an Ko Sine Se Jo Chimtaye Huye Hai

Sarkar Ki Sunnat Ko Jo Apnaye Huye Hai
Wo Log Farishto Pe Sharaf Paye Huye Hai

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *